वृत्त {Circle} [Chapter 10, Class 10th]

Share:
वृत्त - उन सभी बिंदुओं का समूह जो एक स्थिर बिंदु (केंद्र) से बराबर दुरी (त्रिज्या) पर होते हैं, वृत्त कहलाता है।

Chapter 10 Circle Class 10

अप्रतिच्छेदी रेखा - जब दी गई रेखा और वृत्त का कोई बिंदु उभयनिष्ठ न हो, तो वह रेखा अप्रतिच्छेदी रेखा कहलाती है।
छेदक रेखा - जब दी गई रेखा और वृत्त के दो बिंदु उभयनिष्ठ हो, तो वह रेखा छेदक रेखा कहलाती है।
● स्पर्श रेखा - जब दी गई रेखा और वृत्त का केवल एक बिंदु उभयनिष्ठ हो, तो वह रेखा स्पर्श रेखा कहलाती है।
स्पर्श बिंदु - दी गई रेखा और वृत्त के एकमात्र उभयनिष्ठ बिंदु को स्पर्श बिंदु कहते हैं।
● वृत्त के स्पर्श बिंदु पर केवल एक ही रेखा सम्भव है।
● वृत्त की किसी छेदक रेखा के समांतर केवल दो स्पर्श रेखाएँ होती हैं।
● वृत्त की स्पर्श रेखा छेदक रेखा की वह विशेष स्थिति है जब संगत जीवा के दोनों सिरे संपाती हो जाते हैं।
● वृत्त की स्पर्श रेखा वृत्त की उस त्रिज्या पर लंब होती है, जो स्पर्श बिंदु से खींची गई हो।
● एक बिंदु और एक वृत्त दिए होने पर निम्न में से कोई एक स्थिति सम्भव है : -
* स्थिति I - वृत्त के अंदर स्थित बिंदु से वृत्त पर कोई स्पर्श रेखा नहीं खींची जा सकती।
* स्थिति II - वृत्त पर स्थित किसी बिंदु से केवल एक स्पर्श रेखा खींची जा सकती है।
* स्थिति III - वृत्त के बाहर स्थित बिंदु से वृत्त पर दो स्पर्श रेखाएँ खींची जा सकती हैं।
स्पर्श रेखा की लंबाई - वृत्त के बाहर स्थित बिंदु से स्पर्श बिंदु तक की दुरी स्पर्श रेखा की लंबाई कहलाती है।
● वृत्त के किसी बाह्य बिंदु से खींची गई स्पर्श रेखाएँ बराबर होती हैं।
● केंद्र से वृत्त की जीवा पर खींचा गया लंब जीवा को समद्विभाजित करता है।
● दो सकेंद्रीय वृत्तों में यदि बड़े वृत्त की जीवा छोटे वृत्त की स्पर्श रेखा है, तो जीवा स्पर्श बिंदु पर समद्विभाजित होगी।
● वृत्त के बाहर स्थित किसी बिंदु से दो स्पर्श रेखाएँ खींचकर और और स्पर्श बिंदुओं को मिलाने पर एक समद्विबाहु त्रिभुज बनता है और स्पर्श बिंदुओं पर बने कोण बराबर होते हैं।


All Mathematics Chapters Notes for 10th standard :-

अध्याय - 1 वास्तविक संख्याए
अध्याय  2  बहुपद
अध्याय  3  दो चरों वाले रैखिक समीकरण युग्म
अध्याय  4  द्विघात समीकरण
अध्याय  5  समांतर श्रेढ़ी
अध्याय  6  त्रिभुज
अध्याय  7  निर्देशांक ज्यामिति
अध्याय  8  त्रिकोणमिति का परिचय
अध्याय  9  त्रिकोणमिति के कुछ अनुप्रयोग
अध्याय  10  वृत्त
अध्याय  11  रचनाएँ
अध्याय  12  वृत्तों से संबंधित क्षेत्रफल
अध्याय  13  पृष्ठीय क्षेत्रफल और आयतन
अध्याय  14  सांख्यिकी
अध्याय  15  प्रायिकता

कोई टिप्पणी नहीं

Thanks for your comments !