सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 2021 की डेट शीट। अधिक अंक प्राप्त करने के लिए टिप्स

Share:

एक लंबी प्रतीक्षा के बाद, सीबीएसई बोर्ड ने आखिरकार सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 2021 की डेट शीट की घोषणा कर दी है। पिछले वर्षों की तरह, इस वर्ष की डेट शीट में छात्रों को तैयारी केरने के लिए पर्याप्त समय देने के लिए दो परीक्षाओं के बीच अधिक अंतराल रखा गया है। सीबीएसई डेट शीट घोषणा की तारीख के बारे में अधिसूचना ने छात्रों के बीच मिश्रित भावनाओं को उभारा है। छात्रों को सलाह दी गई है कि वे सीबीएसई बोर्ड परीक्षा 2021 की तैयारी पूरी ईमानदारी और निष्ठा से करें।


cbse board exams 2021 date sheet released


छात्रों के तनाव को कम करने और उनकी मदद करने के लिए यहाँ कुछ टिप्स दिए हैं जिनका नियमित रूप से पालन करके अच्छे परिणाम प्राप्त किए जा सकते हैं।


1. प्रत्येक विषय के लिए अपना समय विभाजित करें

प्रत्येक विषय के लिए निश्चित समय तय करें पाठ्यक्रम को पूरा करने के लिए सम्पूर्ण निष्ठा के साथ टाइम टेबल का पालन करने का प्रयास करें। इसके अतिरिक्त, आपको मनोरंजक गतिविधियों के लिए भी कुछ समय सुनिश्चित करना चाहिए ताकि आपका दिमागी सन्तुलन बना रहे।

2. हर प्रकार के प्रश्नों को हल करें

हालांकि सीबीएसई बोर्ड एनसीईआरटी की पाठ्यपुस्तकों के अनुसार अपने प्रश्नपत्रों को डिजाइन करता है। फिर भी, बहुत से छात्र शिकायत करते हैं कि कुछ प्रश्न पाठ्यक्रम के बाहर से आये हैं, लेकिन ऐसा नहीं होता है। इसलिए, छात्रों को विभिन्न प्रकार के प्रश्नों का अभ्यास करना चाहिए ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वे जटिल प्रश्नों को भी हल कर सकते हैं या नहीं। सीबीएसई सैंपल पेपर्स को हल करना ऐसे मामलों में बहुत मददगार हो सकता है। सैंपल पेपर्स विभिन्न प्रकार के प्रश्नों से भरे होते हैं, आसान से लेकर सबसे कठिन तक।


3. सैंपल क्वेश्चन पेपर्स से खुद को परखते रहें

प्रत्येक अवधारणा का गहन ज्ञान होने के लिए, छात्रों को सभी विषयों के सीबीएसई सैंपल प्रश्नपत्रों का अभ्यास करना चाहिए। यह शिक्षकों और पिछले वर्ष के सीबीएसई बोर्ड के टॉपर्स द्वारा सलाह दी जाती है कि छात्रों को परीक्षा से पहले सीबीएसई सैंपल प्रश्नपत्रों को हल करके अपनी तैयारी का मूल्यांकन करना चाहिए।


सीबीएसई प्रश्नपत्रों को हल करने के निम्नलिखित लाभ हैं:

• सीबीएसई बोर्ड द्वारा सुझाए गए सभी प्रकार के प्रश्न शामिल होते हैं।

• छात्रों की सहायता के लिए उत्तर देने के लिए टिप्स, आमतौर पर होने वाली गलतियाँ, संकेत, और कई अधिक नवीन विधियाँ शामिल होती हैं।

• सभी आवश्यक अवधारणाओं और प्रश्नों को परीक्षा के दृष्टिकोण से हल किया होता है।


4. प्रतिदिन पाठ्यक्रम दोहराएँ

छात्रों को ध्यान केंद्रित रहने और नियमित रूप से हर अध्याय के महत्वपूर्ण बिंदुओं और हाइलाइट्स को दोहराने की सलाह दी जाती है। दोहराते समय, आपको प्रत्येक अध्याय के सबसे महत्वपूर्ण बिंदुओं को उजागर करना चाहिए। इस तरह, आप परीक्षा के दिनों में विभिन्न अवधारणाओं को आसानी से दोहराने में सक्षम होंगे। ध्यान रहे कि प्रत्येक दिन कम से कम 1 घण्टा पिछले दिन का पढा हुआ अध्ययन करने में लगाएँ।


5. पिछले पाँच वर्ष के सीबीएसई प्रश्नपत्रों का अभ्यास करें

शिक्षकों द्वारा पिछले वर्षों के बोर्ड प्रश्नपत्रों को हल करने का सुझाव दिया जाता है, खासकर जब छात्रों ने पाठ्यक्रम पूरा कर लिया हो। पिछले वर्षों के प्रश्नपत्रों का अभ्यास करने से आपको अपनी तैयारी के स्तर को परखने में मदद मिलेगी। आपको पता होना चाहिए कि सीबीएसई अपने छात्रों को नए पेपर पैटर्न शुरू करने और प्रश्नों के प्रकार में बदलाव करना पसंद करता है। इसलिए छात्रों को सलाह दी जाती है कि वे पिछले 5 वर्षों के सीबीएसई प्रश्नपत्रों को हल करें और इस बारे में उचित विचार करें कि बोर्ड एग्जाम्स में कोई बदलाव होगा या नहीं । इससे उन्हें प्रश्नपत्रों के प्रचलित पैटर्न के साथ तालमेल रखने में मदद मिलेगी।


निष्कर्ष


सीबीएसई बोर्ड परीक्षाओं को छात्रों के शैक्षिक अस्तित्व में मुख्य चरण के रूप में देखा जाता है क्योंकि ये भविष्य में उसकी व्यावसायिक संभावनाओं को प्रभावित करते हैं। इस लेख में दी गई सभी टिप्स एक मजबूत अध्ययन योजना बनाने में आपकी सहायता करेंगी जो कि बोर्ड परीक्षाओं तक शेष महीनों में पालन की जा सकती हैं।

हम आपको आगामी बोर्ड परीक्षाओं के लिए शुभकामनाएँ देते हैं!

कोई टिप्पणी नहीं

Thanks for your comments !